वे सिर्फ उतना जख्मी करेंगे तुम्हें जितना जरूरी है

कालपेट्टा नारायणन की चार कविताएं :: मलयालम से अनुवाद : बाबू रामचंद्रन

कविताएं
पूरा पढ़ें

किताबों-सा ये मेरा दिल और यह बेदिल दुनिया

अमोस ओज़ का गद्य :: अनुवाद : प्रमोद सिंह

गद्य
पूरा पढ़ें

औरत के व्यर्थ गए अपराधों के बारे में

चार कविताएं :: अनुराधा सिंह

कविताएं
पूरा पढ़ें

एक पत्थर किसी का नहीं होता

रसेल एडसन की तीन कविताएं :: अनुवाद : प्रचण्ड प्रवीर

कविताएं
पूरा पढ़ें

हम कोशिकाओं से नहीं, स्मृतियों से बने हैं

बातें :: शिवेंद्र से अमित ओहलाण

बातें
पूरा पढ़ें

संभोग ही सब कुछ नहीं है दुनिया में

लिसा ब्लॉशील्ड की तीन कहानियां :: अनुवाद : उदय शंकर

गद्य
पूरा पढ़ें